अपनी कमी को ख़ूबी में बदेलने वाला जबरदस्त कहानी – Weakness Person Motivationl Story in Hindi

Hello दोस्तों बहुत दिनों बाद आज फिर आपके लिए एक नया Weakness Person Motivationl Story in Hindi लेकर आये है जिसको पढ़कर आपको जरूर Motivation मिलेगा। अगर आपका कोई कमज़ोरी है और आप सोचते है जो आप कभी कुछ नही कर सकते है तो आपका यह सोच बहुत ही गलत है। आप अपने कमज़ोरी को ही अपना हतियार बना ले तो आपको Success होने से कोई नही रोक सकता।

आज का Motivationl Story in Hindi पढ़ने के बाद अगर आपको story अच्छा लगे तो post के नीचे दिए गए share button से facebook पे share करना ना भूले और दोस्तों आप हमारे website को अपने bookmark में save कर ले और रोज visit करते रहे आपको यहाँ से बहुत प्रेरणा दायक story पढ़ने को मिलेंगे और आप आपकी लिखी हुई story हमे भेज सकते है हम अपने website में शेयर करेंगे आपके नाम से। तो चलिए शुरू करते है आज का story।

Weakness-person-motivational-story-in-hindi

दोस्तों कहते है जीवन में अगर किसी चीज में कामयाब होना है तो अपने हर कमजोरी को अपने आप से दूर भगा देना चाहिए नही तो यही कमज़ोरी हमारे कामयबी का सबसे बड़ा रुकबाट बन सकती है। लेकिन आज में जिस Motivationl Story in Hindi के बारे में बताने जा रहा हूँ इसमें एक इंसान अपने सबसे बड़ी कमज़ोरी को ही अपना ताकत बना लेता है और बो चीज करके दिखता है जो एक आम इंसान के लिये भी बहुत मुसकिल है। तो चलिये पढ़ते है Live Changing Story in Hindi.

Life Changing Weakness Person Motivational Story in Hindi

काफ़ी समय पहले की बात है। एक व्यक्ति छोटे से गांव में रहता था और बो अपने जीवन में बहुत खुश था। उसका बस एक ही सपना था जो बो एक बहुत बड़ा पहेलवान बने और अपने गांव और देश का नाम रौशन करे मगर सायेद यह उसके क़िस्मत को मंजूर नही था। इसलिए इस ब्यक्ति का एक भयानक accident में दाहिना हात काट जाता है। मगर फिर भी इस ब्यक्ति का सपना पेहलबन बनना ही है। उसको यह अच्छी तरह पता होता है कि कुस्ती और पहलबानी करने के लिए दोनों हातो का होना बहुत जरुरी है, फिर भी वह हार नहीं मानता है और अपने सपनो को धुंदला होने नही देता है।

फिर एक दिन वह ब्यक्ति एक अखड़े में जाता है और उस अखड़े के गुरु जी से मिलता है और उनसे कहता है “गुरु जी मुझे पहलवानी सीखनी है में बहुत बड़ा पहलवान बनना चाहता हु क्या आप मुझे पहलवानी सिखायेंगे?” यह सुनने के बाद गुरु जी बहुत प्रभावित होता है और उस ब्यक्ति से कहता है अगर तुम चाहो तो तुम बिजेता बन सकते हो। मगर में तुम्हे पहलवानी तभी सिखाऊंगा जब तुम मेरे से कभी कोई सावल नही पूछोगे। यह सुनने के बाद वह गुरु जी से कहता है में आपकी हर बातें मानूँगा और तभी से वो पहलवानी सिखने लग जता है।

गुरु जी अपने और शिष्यो के साथ उसे भी पहलवानी सिखाते है लेकिन गुरु जी अपने दुसरो शिष्यो को नया नया कलाये सीखते थे मगर उस ब्यक्ति को एक ही कलाये हर रोज सिखया जाता था। देखते देखते 1 साल बीत जाता मगर वह ब्यक्ति को अब भी बही चीजे सिखाये जाते है और बो भी चुप चाप अपने गुरूजी का आज्ञा पालन करता है।

फिर एक दिन उससे रहा नही गया और गुरूजी से बोला “गुरूजी आप मेरे साथ नाइंसाफी कर रहे हो आप अन्य शिष्यओ को हमेशा नए नए कलाये सिखाते है और मुझे पिछले एक साल से एक ही कलाये सीखते आ रहे है” तब गुरूजी बोले “जो में सीखा रहा हु उसी को सीखो कोई सवाल मत करो” यह सुनने के बाद वह ब्यक्ति अपने गुरूजी की बात मानता है और एक ही कला सीखता जाता है धीरे धीरे दो साल बीत जाता हैं।

एक बार एक पहलबानी की प्रतियोगिता होती है जिसमे सभी शिष्य हिस्सा लेते ही और वह ब्यक्ति भी इसमें हिस्सा लेता है दाया हात ना होने के बबजुत। अलग अलग पहलबानी की प्रतियोगिता चलने लगती है और आखिर में उस ब्यक्ति की बारी आती है और उस ब्यक्ति का जिस ब्यक्ति से मुकावला होना होता है उससे जितना बहुत मुश्किल है क्योंकि वह ब्यक्ति दुनिया के सबसे शार्बसेष्ट ब्यक्ति को पहलवानी में हरा चूका था।

Janiye 30 Din Me Kaise Bane Lakhpati Ghar Baithe Business Kare Apne Android Mobile Se (Without Investment)

अब दोनों में पहलवानी शुरू हो जाती है और अब जिस इंसान के दाया हात नही थी उसकी बारी थी। गुरूजी ने उसे जो कलाये सिखाई थी बो कलाये आजमाई, अब उस ब्यक्ति ने बो कलाये का उपियोग किया, अब सामने बाले के पास इस दावे से बचने का सिर्फ एक ही उपाय था की वो उस आदमी के दाया हात पकड़ कर उसे ज़मीन पर गिरा दे, लेकिन उस आदमी का तो दाया हात ही नहीं था। तो ब्यक्ति जिसका एक हात भी नही था वह उस प्रतियोगिता में विजय घोषित किया गया क्योंकि उसने सामने बाले व्यक्ति को जमीन पर गिरा दिया।

तो दोस्तों आपको ये Weakness Person Motivationl Story in Hindi कैसी लगी? अगर आपको अच्छी लगी हो तो आप इसको share करना ना भूले। दोस्तों हमे इस story से यह सिख मिलता है अगर हमारेे दिल में जितने की उमीद हो तो हम अपनी कमी को भी ख़ूबी में बदल सकते है। मगर इंसान की कमी यही है कि वो अगर अपने अंदर कोई कमी देखता है तो सोचता है में इस कमी के कारण आगे नही बढ़ सकता लेकिन ऐसा नही है दोस्तों हम भी इस इंसान की तरह कमी होते हुए भी बहुत नाम कमा सकते है।

Also Read:

Comments

  1. By Vicky

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *